default-logo

जीवन दर्शन मेरी नजर से ..

अंधेरा कितना भी घना हो  निराश ना होना । दिये  की बाती बहुत छोटी और पतली होती है परंतु बड़े और घने अंधेरे को दूर करके प्रकाशवान करने मे सक्षम होती है ॥ आशावान रहे ज्ञानवान बने ॥ सत्य प्रकाश शर्मा “सत्य...
Read More →

जीवन दर्शन मेरी नजर से

जीवन दर्शन मेरी नजर से .. आप कर्तव्यनिष्ठ है ,बेशक अकेले है परंतु जान लो आप संपूर्ण है और सक्षम भी है ।तो भय मुक्त हो , निर्भीक बनो ।तब विश्वास रखो ईश्वर सदा आपके साथ खड़े होते है । सत्य प्रकाश शर्मा “सत्य...
Read More →

जीवन दर्शन मेरी नजर से ..

आत्मबल यानी स्वयं पर विश्वास ही एक मात्र साधन है जिसके साथ हम बड़ी से बड़ी विपदा और संकट को सफलतापूर्वक हराकर आगे बढ़ सकते है ॥ स्वयं पर विश्वास रखे ॥ सत्य प्रकाश शर्मा “सत्य...
Read More →

जीवन दर्शन मेरी नजर से

जीवन दर्शन मेरी नजर से.. जब आवश्यक हो तभी बोले । बोलने से ज्यादा सुनने का अभ्यास करे । निष्पक्ष होकर आंकलन करे। फिर देखे आपका व्यक्तित्व निखरता भी है और मुखर भी होता है । सत्य प्रकाश शर्मा “सत्य...
Read More →

सत्य वचन

                  सत्य वचन संसार मे रहते हुए भी  संसार मे डूबना नही हैं । जैसे दीपक की बाती तेल मे डूब जाये तो प्रकाश लुप्त हो जाता हैं । अतः संसार सागर मे तैर कर संसार को प्रकाशित करना ही सफल जीवन हैं । सत्य प्र...
Read More →

सत्य वचन

मेरे देश की बेटी विवाह पश्चात ना केवल अपने पति औऱ पुत्र की दीर्घायु के लियें निर्जल रहती हैं बल्कि अपने बाबुल औऱ भाई की खुशहाली की भी व्रत पूर्ण कामना करती हैं । धन्य हैं भारत की समृद्ध लोकरीति औऱ त्यौहार । ॥ बेटियाँ अनमोल हैं ॥ ॥ बेटी ख़ुश तो हम खुशहाल हैं ॥ यही कारण हैं कि मेरा...
Read More →

सत्य वचन

मेरे देश की बेटी विवाह पश्चात ना केवल अपने पति औऱ पुत्र की दीर्घायु के लियें निर्जल रहती हैं बल्कि अपने बाबुल औऱ भाई की खुशहाली की भी व्रत पूर्ण कामना करती हैं । धन्य हैं भारत की समृद्ध लोकरीति औऱ त्यौहार । ॥ बेटियाँ अनमोल हैं ॥ ॥ बेटी ख़ुश तो हम खुशहाल हैं ॥ यही कारण हैं कि मेरा...
Read More →

सत्य वचन

                          शिक्षक गुरु विषय का  ज्ञान होना,  विद्वान होना हैं । ज्ञान का प्रसार करना एक बड़ी सेवा हैं । परंतु विषय को स्वयं जीना औऱ छात्रो को उसका अनुभव  कराना,  गुरुत्त्व हैं जो शिक्षक बनने  से गुरु होने तक की अनुभवपूर्ण एक यात्रा हैं ॥ सत्य प्रक...
Read More →

सत्य वचन

शिक्षक गुरु विषय का ज्ञान होना, विद्वान होना हैं । ज्ञान का प्रसार करना एक बड़ी सेवा हैं । परंतु विषय को जीना औऱ छात्रो को उसका अनुभव कराना, गुरुत्त्व हैं जो शिक्षक बनने से गुरु होने तक की एक यात्रा हैं ॥ प्रणाम सत्य प्रक...
Read More →

सत्य वचन

मनुष्य कहाँ हैं शून्य आंखो मे अब स्पंदन कहाँ हैं । अज्ञान , अंधता , अतिशय यहाँ हैं । दुर्लभ हुई चेतन जीवन की आशा ॥ अब अस्तित्व रह गए मनुष्य कहाँ हैं ॥ 1॥ थकती नही हैं ये व्यस्तता चीरायु सिमटी हैं करुणा अपान प्राण वायु मार्तण्ड , मूर्धन्य , सब मनीषी यहाँ हैं अस्तित्व रह गए ह...
Read More →